Posts

Featured Post

उत्कृष्ट वित्तीय रिपोर्टिंग के लिए बीएचईएल सम्मानित

 बीएचईएल हरिद्वार को उत्कृष्ट वित्तीय रिपोर्टिंग के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टेड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया से राष्ट्रीय पुरस्कार वर्ष 2019-20 से सम्मानित किया गया है। दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में यह पुरस्कार भेल की ओर से निदेशक (वित्त) सुबोध गुप्ता ने भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल से प्राप्त किया। उल्लेखनीय है कि बीएचईएल द्वारा लगभग चार दशकों के बाद प्राप्त यह प्रतिष्ठित सम्मान एक विशेष उपलब्धि है। बीएचईएल को पिछली बार वर्ष 1981-82 में आईसीएआई द्वारा यह सम्मान प्रदान किया गया था। ज्ञातव्य है कि एक स्वतंत्र जूरी द्वारा विभिन्न स्तरों पर स्क्रीनिंग के उपरांत सर्वसम्मति से बीएचईएल को इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड कंस्ट्रक्शन सेक्टर श्रेणी में वर्ष 2019-20 के पुरस्कार के लिए चयनित किया गया

कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकारी प्राइवेट मिलकर कार्य करेंगे- जिलाधिकारी

Image
 जिलाधिकारी सी0 रविशंकर ने कलेक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में आगामी कुम्भ मेला के दौरान कोविड संक्रमण की रोकथाम के संबंध में स्वास्थ्य विभाग हरिद्वार, निजी चिकित्सालयों, निजी चिकित्सकों, मिलिट्री अस्पताल रूड़की, प्राइवेट लैब संचालकों के साथ बैठक की। बैठक में कुम्भ के दौरान कोविड संक्रमण के दृष्टिगत प्राइवेट अस्पतालों द्वारा बेड कैपीसिटी को रिजर्व रखने, एम्बुलेंस उपलब्ध कराने आदि पर विस्तार से चर्चा हुई। जिलाधिकारी ने कहा कि टेस्टिंग को बढ़ाने के लिए जिला स्तर पर प्राइवेट लैब को इमपैनल किया जाएगा, ताकि प्राइवेट लैब भी टस्टिंग कर सकेंगे। उन्होंने कुम्भ मेले के दौरान सभी स्पेशलिस्ट डाक्टर्स से ड्यूटी के लिए आह्वान किया तथा आॅन काॅल रहने को कहा। कुम्भ के दौरान निजी अस्पताल अपना स्टाॅल लगाकर वालंटियर के रूप में भी अपनी सेवाएं दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी कुम्भ मेला हम सभी के लिए चुनौती के साथ साथ अवसर भी है, अपनी कार्यक्षमता दिखाने का। प्राइवेट एवं सरकारी संस्थान मिलकर कार्य करेंगे। हम सभी की जिम्मेदारी है, पूरे विश्वास के साथ एकजुट होकर, उपलब्ध सभी संसाधनों का प्रयोग करंेगें। उन्होंने मेडि

श्री गुरु रविदास महापीठ ने भी अखाड़ों की तरह भूमि आवंटन की मांग की

 कुंभ मेले में अखाड़ों की तर्ज पर श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ ट्रस्ट को भूमि आवंटन के साथ ही अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की गई। ट्रस्ट के अध्यक्ष और ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर ने इस संबंध में मेलाधिकारी दीपक रावत को मांग पत्र सौंपा। सुरेश राठौर ने कहा कि श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ ट्रस्ट को वर्ष 2010 में भी अन्य अखाड़े, आश्रमों की भांति समय से भूमि आवंटित करते हुए सभी सुविधाएं दी गई थीं। लेकिन इस कुंभ में अभी तक पीठ को कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई है। जिससे समाज के लोगों में रोष है। उन्होंने कहा कि श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ ट्रस्ट एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार करती है। इस वर्ष होने वाले कुंभ मेले में भूमि आवंटन किया जाए, उन्होंने कहा कि मेले में श्री गुरु रविदास संप्रदाय के लोग पूरे देश से पहुंचेंगे। उनके ठहरने के लिए टेंट और सत्संग के लिए पंडाल की सुविधा के साथ ही चाहरदीवार कर टीनशेड लगवाया जाए। शौचालय, स्नानग्रह, वाचनालय और बिजली-पानी व सफाई व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने कहा कि लगभग 50 हजार वर्ग फुट भूमि में टेंटों की सुविधा के लिए दिव्य प्रेम स

मुर्गियों के सैंपल में पुष्टि नहीं केवल एक मृत पक्षी में वर्ल्ड फ्लू की पुष्टि - जिलाधिकारी हरिद्वार

Image
जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा है कि जनपद में केवल  मृत पक्षी में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। उन्होने कहा कि बर्ड फ्लू की पुष्टि के लिए 54 मुर्गियों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गये,लेकिन फिलहाल किसी मुर्गी में बर्ड फ्रलू की पुष्टि नही हुई है। जिलाधिकारी जनपद में बर्ड फ्लू स्थिति को लेकर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। सोमवार को रोशनाबाद स्थित जिलाधिकारी कार्यालय के सभागार में जिलाधिकारी ने पत्रकारों को बताया कि जिले में वन क्षेत्र में विभाग को 14 पक्षी मृत मिले थे। सभी पक्षियों के सैंपल बर्ड फ्लू की जांच के लिए भेजे गये थे, 14 मृत पक्षियों में से केवल एक पक्षी में ही बर्ड फ्लू की पुष्टि जांच में हुई है। सैंपल पाॅजिटिव आने के बाद से जिला प्रशासन, वन विभाग ने बर्ड फ्लू की स्थिति पर नियंत्रण के लिए बनायी गयी रणनीति से अवगत कराया। उन्होंनंे हैल्पलाइन नम्बर 01334-239978, 9068811612 जारी किया। इस नम्बर पर कोई भी व्यक्ति किसी पक्षी के संक्रमणग्रस्त होने की सम्भावना एवं पक्षियों के मृत पाये जाने की सूचना कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि फ्लू को जनपद में नियंत्रित करने के लिए पशु चिकित्सा विभाग की ओर

देश के साथ ही जनपद में भी कोरोना टीकाकरण की हुई शुरुआत

 जनपद में चार स्थानों पर लगाए जाएंगे  कोविडरोधी वैक्सीन के टीके, स्वास्थ्य कर्मियों से हुई शुरुआत  प्रदेश के साथ ही जनपद में कोरोना टीकाकरण की शुरूआत हो गयी। सबसे पहले आशा फेसिलेटर श्रीमती संजीता को कोविडरोधी टीका रोशनाबाद स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर लगाया गया। शनिवार को आखिरकार विश्वव्यापी महामारी कोविड19 यानि कोरोना से बचाव के लिए करोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गयी। प्रदेश के साथ ही जनपद में चार स्थानों पर स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण की शुरूआत किये जाने के मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के उपाध्यक्ष संजय सहगल,जिलाधिकारी सी रविशंकर,मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एस.के.झा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मी को वैक्सीन टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी। जनपद में सफलतापूर्वक वैक्सिंग करने के लिए ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्, रोशनाबाद, सिविल अस्पताल रुड़की, और समुदायिक केंद्र नारसन में चार जगह कैप लागए गए हैं । हरिद्वार जिले को पहला चरण में 18050 लोगो को वैक्सीन की डोज मिली है। जिससे पहले चरण में फ्रंट लाइन में रहकर काम करने वाल

उत्तराखंड में आज 226 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिले और 272 मरीज स्वस्थ हुए

 उत्तराखंड राज्य में आज 226 नए कोरोना संक्रमित मरीज और मिले हैं जबकि 272 मरीज ठीक हो गए है, अब उत्तराखंड में कुल कोरोना संक्रमितो की संख्या 94691 हो गई है । उत्तराखंड में ऐक्टिव केस 2349 हों चुके हैं जबकि आज 04 कोरोना संक्रमितो की मृत्यु हुई है अब तक कोरोना संक्रमित मृतको की संख्या 1606 हुई है आज  तक 89454 मरीज ठीक हो चुके है। राज्य में रिकवरी दर 94.47% हो गई है। आज शाम आई उत्तराखंड शासन के कंट्रोल रूम की रिपोर्ट के अनुसार हरिद्वार जनपद में आज 31 नये केस और मिले इसलिए यहां  संक्रमितो की कुल संख्य13793 हो गई है हरिद्वार में आज  43 मरीज ठीक हुए हैं और अबतक कुल 13198 ठीक हो चुके हैं यहां रिकवरी 95.69% हो चुकी है।

मकर संक्रांति से जीवन में सकारात्मकता आती है- त्रिवेंद्र सिंह रावत , मुख्यमंत्री

Image
पतंजलि फेस 2 आचार्यकुलम में मकर संक्रांति के अवसर पर आयोजित यज्ञोपवीत उपनयन संस्कार में शामिल हुए। उन्होंने छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सक्रांति शुभ, ज्ञान, ऊर्जा एवं प्रकाश त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री का प्रतीक है। सक्रांति से जीवन में सकारात्मकता आती है, इसलिए हम प्राचीन काल से ही सक्रान्ति के उपासक रहे हैं। हमारे त्योहार संस्कारों से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि बच्चों के बीच पतंजलि में आकर उन्हें अपार आनन्द का अनुभव हुआ। इसके उपरांत मुख्यमंत्री सपरिवार पतंजलि फेस 1 पहुंचे, जहां चतुर्वेद महा परायण यज्ञ का आरंभ मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में किया गया। यह यज्ञ लगभग एक महीने तक चलेगां इस यज्ञ में योगगुरू स्वामी राम देव के साथ मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी सहभागिता की ओर यज्ञ में आहूति देते हुए देश के लिए मंगलकामना की। उन्होंने कहा कि हमारा देश हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। देश की चार कम्पनियां कोरोना वेक्सीन बना रही हैं। दुनिया के 12 देश हमसे कोरोना की वेक्सीन मांग रहे हैं। उन्होंने सभी से दैनिक जीवन में प्राणायाम, योग को अपनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि योग