हरिद्वार की ताजा खबरें -- हरिद्वार के व्यापारियों ने डमरु क्यों बजाया ?


केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एसओपी के खिलाफ व्यापारियों का  प्रदर्शन


महा कुम्भ 2021 के आयोजन पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मन्त्रालय द्वारा भारी भरकम (एसओपी) शर्ते लगाने के विरोध में प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल ने डमरू बजाकर प्रदर्शन किया। इस दौरान जिलाध्यक्ष डा.नीरज सिंघल ने कहा कि कुम्भ मेले हिन्दू समुदाय की विश्व व्यापी पहचान हैं। कुंभ मेला भारतीय संस्कृति, अध्यात्मिक श्रद्धा और आस्था का महापर्व है। उन्होंने कहा कि केन्द्र में सत्तारूढ़ भाजपा बड़ी-बड़ी राजनीतिक रैलिया कर रही है। जिसमें हजारों लाखों की भीड़ इकठ्ठा हो रही है। कोरोना के दृष्टिगत रैलियों में जमा होने वाली भीड़ पर नियंत्रण के लिए किसी प्रकार के कोई दिशा निर्देश नहीं जारी किए जा रहे हैं। लेकिन हरिद्वार में 12 साल बाद होने वाले धार्मिक महापर्व कुम्भ मेले के सीमित करने के लिए भारी भरकम दिशा निर्देश जारी किए जा रहे हैं। कोरोना से पहले ट्रेंनों का संचालन बाधित रहने व उसके बाद लाॅकडाउन के चलते हरिद्वार का व्यापारी पहले से ही आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। अब कुंभ मेले में आने वाल श्रद्धालुओं के लिए कठिन एसओपी जारी कर दी गयी है। ऐसे में कोई भी श्रद्धालु हरिद्वार कैसे आ पाएंग। जिससे व्यापारी और व्यापार पंगु हो जाएगा। इसके केवल भ्रष्ट तंत्र को लाभ होगा। जनता की खून पसीने की कमाई कुंभ के नाम पर हजम कर ली जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार की एसओपी को अनुचित ठहराते हुए इसे सरल बनाने और श्रद्धालुओं का मौके पर ही टीकाकरण किए जाने मांग की। महामंत्री संजय त्रिवाल ने कहा कि बेहद कठिन एसओपी से कुंभ मेला विफल और हरिद्वार का व्यापारी व व्यापार चैपट हो जाएगा। जब श्रद्धालु ही नहीं आएंगे तो कुंभ मेले की तैयारी भारी-भरकम तामझाम क्यों किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार का व्यापारी इसका विरोध करता है। उन्होंने कहा कि जब कोरोना की वैक्सीन आ गई है तो प्रवेश से पूर्व ही श्रद्धालुओं को वैक्सीन लगायी जाए। जिससे कोरोना का खतरा स्वतः ही खत्म हो जाएगा। त्रिवाल कहा कि केंद्र सरकार कोरोना के नाम पर हिंदू महापर्व कुंभ के आयोजन को सीमित करना चाहती है, इसका डटकर विरोध किया जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में विकास तांत्रिवाल, अजय रावल, गगन गुगनानी, मोहनदास गोस्वामी, राजेश अग्रवाल, दिनेश कुकरेजा, धर्मेन्द्र गुप्ता, गोपाल दास गोस्वामी, ऋषभ गोयल, राजीव शर्मा, दिनेश साहू, सदानन्द सक्सेना आदि शामिल थे।


सइकिल रैली को हरी झण्डी दिखाकर मेलाधिकारी ने किया रवाना

वातावरण को प्रदूषण से बचाने और इंधन की खपत को कम करने के उद्देश्य से भारत पेट्रोलियम, पीसीआरए व सक्षम संस्था के संयोजन में निकाली गयी आओ साइकिल चलायें अभियान के तहत आयोजित ’’साइक्लोथाॅन’’ साइकिल रैली को झण्डी दिखाकर रवाना किया। रैली में शामिल सभी प्रतिभागियों को पर्यावरण संरक्षण की शपथ भी दिलाई गई। साइकिल रैली में बड़ी संख्या में साइकिल सवार युवा और बच्चे शामिल हुए। रैली शहर भर के कई प्रमुख रास्तों से होते हुए लोगों को जागरूक करेगी। बस स्टैण्ड के समीप सहगल पेट्रोल पम्प से रैली को रवाना करते हुए मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि भारत पेट्रोलियम और पीसीआरए की ओर से यह अच्छा कदम है। इससे लोग इंधन कि कम से कम खपत करने के लिए जागरूक होंगे वहीं साइकिलिंग से उनके स्वास्थ्य को भी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि साइकिलिंग व पेटोलियम कंजर्वेशन को बिग वे में प्रमोट किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि शारीरिक स्वस्थता के लिये साइकिलिंग सबसे अच्छा तरीका है। इसके पूर्व कार्यक्रम आयोजकों की ओर से मेलाधिकारी को शाल ओढ़ाकर एवं तुलसी का पौधा भेंटकर सम्मानित किया गया। सक्षम संस्था द्वारा हरित एवं स्वच्छ उर्जा के लिये आओ साइकिल चलायें अभियान के तहत आयोजित ’’साइक्लोथाॅन’’ साइकिल रैली में विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं एवं संस्थाओं से जुड़े बच्चों एवं बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया। इस अवसर पर राज्य मंत्री संजय सहगल के अलावा विमल सहगल, पंकज सहगल सहित संस्था के पदाधिकारी तथा पीसीआरए के अधिकारीगण मौजूद रहे।


सरकार का स्कूल खोलने का निर्णय बच्चों के जीवन से खिलवाड़-अरोड़


कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता सुनील अरोड़ा ने कैबिनेट में लिए गए निर्णय पर बोलते हुए कहा कि एसओपी के तहत विद्यालय खोलने का निर्णय तर्क संगत नहीं है। टीकाकरण अभियान अब तक पूरा नहीं हो पाया है। राज्य सरकार स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ जैसे निर्णय लेने पर आमादा है। सरकार दोहरी मानसिकता दिखाते हुए गलत निर्णय ले रही है। कोरोना काल को लेकर कुंभ के आयोजन पर कई तरह की रोक लगाने के बावजूद सरकार कैबिनेट में विद्यालय को खोलने का निर्णय कर रही है। सुनील अरोड़ा ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री निर्णय लेने में सक्षम नहीं है। गलत निर्णय लेकर बच्चों के जीवन से खिलवाड़ करने जैसा है। उन्होंने कहा कि सरकार स्वयं ही कोरोना संक्रमण के खतरे की आशंका जता रही है। केंद्र सरकार द्वारा भी कुंभ मेले जैसे धार्मिक आयोजन पर भी नियमों को थोपा जा रहा है। दूसरी ओर सरकार स्कूलों को खोलने की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में सर्वप्रथम टीकाकरण अभियान पूरा किया जाना चाहिए। अब तक वैक्सीनेशन नहीं हो पाया है। कोरोना का संक्रमण का खतरा बना हुआ है। सुनील अरोड़ा ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत राज्यवासियों के हित में सही फैसले नहीं ले रहे हैं। अब देखा गया है कि सरकार जो बयान देती है। निर्णय उसके उलट होते हैं। कुंभ के मामले में इसे अच्छे से समझा जा सकता है। 



चार पुलिसकर्मियों को सेवानिवृत होने पर एसएसपी ने दी विदाई


 सेवा अवधि पूरी करने के बाद महिला पुलिसकर्मी सहित चार लोगों को पुलिस कार्यालय में एसएसपी ने विदाई दी। पुलिस कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार पुलिस में काॅस्टेबल के पद पर नियुक्त तेज सिंह धामी के द्वारा पुलिस विभाग में 12 वर्ष, 01 माह 25 दिवस की सेवा की गयी है तथा सेवा के दौरान इन्हें अच्छे कार्यो के लिये उच्चाधिकारियों द्वारा समय समय पर पुरस्कृत किया गया है। वे आर्मी से सेवानिवृत के बाद काॅस्टेबल पद पर भर्ती हुये थे। इसी तरह श्रीमती उषा चैहान पुलिस विभाग में 39 वर्ष 10 माह 30 दिवस की सेवा के बाद मुख्य आरक्षी के पद पर सेवा करने के बाद सेवानिवृति दी गई।  हिमांशु कुमार जोशी के द्वारा पुलिस विभाग में 33 वर्ष 04 माह 24 दिवस की सेवा विदाई दी गइ। सेवा के दौरान इन्हें अच्छे कार्यो के लिये उच्चाधिकारियो द्वारा समय समय पर पुरस्कृत किया गया है। इसी तरह उपनिरीक्षक के पद से शूर सिंह नेगी 40 वर्ष,02 माह 01 दिवस की सेवा के बाद विदाई दी गयी। सेवा के दौरान इन्हें अच्छे कार्यो के लिये उच्चाधिकारियों द्वारा समय समय पर पुरस्कृत किया गया है। रविवार को एसएसपी अबुदई सैथिंल अबुदई कृष्ण एसराज ने सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उपहार देकर सम्मानित करते हुए विदाई दी।

Popular posts from this blog

कल शनिवार और रविवार को लॉकडाउन में कौन - कौन संस्थान खुलेंगे ?, गाइडलाइन जारी

हरिद्वार आने वालो के लिए नई गाइडलाइन जारी, पर्यटकों को अनावश्यक रूप से ना रोका जाए - जिलाधिकारी

ब्रेकिंग न्यूज-कोरोना चार सौ पार